देश कुछ साल पहले एक शख्स की इतनी बातें हुई थी कि देश के बच्चे बच्चे के मुह पर नाम था उनका..और नाम था मोदी…कहा गया कि मोदी जी अगर प्रधानमंत्री बने तो देश की दिशा और दशा दोनों बदल देंगे..आतंकवाद तो खत्म ही हो जायेगा और पाकिस्तान की तो खैर नहीं..सुनने में ये भी आया की मुस्लिम लोगों को बड़ी दिक्कत होगी उनके आने से..लेकिन क्या मुसलमानों ने वोट नहीं किया..काला धन कई दिन से खोज रहे थे सभी मोदी ने 100 दिन में वापस लाने की बात कर दी, तो भाई साहब जनता ने भी क्या खूब समर्थन किया..लो बना दिया प्रधानमंत्री..अब 2 साल से उपर हो गए हैं..क्या काला धन आ गया नहीं..क्या भ्रष्टाचार ख़त्म हो गया..नहीं..क्या आतंकवाद खत्म हो गया ?क्या पाकिस्तान डरने लगा है भारत से..जवाब आप खुद खोज लीजिये..बस हमे इतना बताइए के हवा जो आई थी उसने रुख बदल लिया है या फिर हवा निकल गई है…
फिर से ठगा सा महसूस कर रहे है..कड़ी निंदा तो पहले भी सरकार करती थी ..कभी पाकिस्तान का दौरा भी नहीं किया ..और इन्होने दौरे भी किया लेकिन कई जवानों के सर वापस ना सके…खैर छोड़िये राजनीति है ही ऐसी चिड़िया जो एक पेड़ पर कभी बैठ ही नहीं सकती..और आप कर भी क्या लीजियेगा..आवश्यकता आविष्कार की जननी है ..सुना होगा आपने और ये भी सुना होगा कि बदलाव प्रकृति का नियम ..लेकिन बदलाव के लिए विकल्प भी तो होना चाहिए..अब रोइये माथा पीट पर..मुबारक हो आप भारत में हैं…

Advertisements